छपरा: आज भी टीकारण को लेकर लोगो मे काफी अफवाह बनी हुई है,गांव बस्ती के लोग नही ले रहे है टीका, कहा :टिका काहे ले मरने के लिए,हम मर जायेंगे तो हमारे बाल बच्चे को कौन देखेगा?

छपरा: आज भी टीकारण को लेकर लोगो मे काफी अफवाह बनी हुई है,गांव बस्ती के लोग नही ले रहे है टीका, कहा :टिका काहे ले मरने के लिए,हम मर जायेंगे तो हमारे बाल बच्चे को कौन देखेगा?

अमनौर (सारण)प्रखण्ड के अमनौर कल्याण व बसंतपुर बंगला पंचायत के बूथों पर हो रहे टीकाकरण का निरीक्षण करने गुरुवार को डीआरडीए निदेशक जनार्धन अग्रवाल पहुचे, इस दौरान बूथ नम्बर 11 बिशुनपुर धोबाही,12,13,14,15, उत्क्रमित उच्च बिद्यालय बसंतपुर बंगला16, 17,प्राथमिक बिद्यालय धोबाही,बूथ नम्बर 18 उत्क्रमित मध्य बिद्यालय सहादी के डोर टू डोर दौरा कर औचक निरीक्षण किया।हर बूथ पर टीकाकरण की काफी कम संख्या देख अधिकारी भड़क उठे।आंगनवाड़ी सेविका इंद्रा आवास सहायक,बीएलओ से फटकार लगाई, इसका कारण पूछा।सभी ने कहा कि कुछ बस्ती के लोग अफवाह में पड़कर टिका लेने से परहेज कर रहे है,कई बार सूचना देने के बावजूद भी टिका लेने नही आ रहे है।यह बात सुनते ही अधिकारीयो का काफिला गांव के बस्ती की तरफ मुड़ गया,
गांव में अधिकारियों के पहुँचने व समझाने के बाद भी लोग टिका लेने से किया परहेज,डीआरडीए के काफिला के पीछे बीडीओ बिभु विबेक,कृषि  पदाधिकारी नवल किशोर सिंह,स्वास्थ्य प्रबन्धक शिवकुमार पश्वान,मुखिया प्रतिनिधि राज कुमार सिंह,इंद्रा आवास सहायक भोला पश्वान,अमनौर कल्याण पंचायत के मिश्रटोला,दलित बस्ती पहुँचे, गांव में पहुँचकर कई लोगो से कोविंड-19 का टीका लेने की बात कही,पहले लोगो ने कहा टिका ले लिए है फिर बाद में कहते है कि टिका काहे ले मरने के लिए,हम मर जायेंगे तो हमारे बाल बच्चे को कौन देखेगा,कई लोगो तो घर से निकले ही नही कई लोग बीमारी का हवाला दे रहे थे,सभी के लाख समझाने के बाद भी बस्ती के लोग अधिकारी यहाँ तक कि मुखिया का भी बात नही माने,कोई भी ब्यक्ति टिका नही लिया।अधिकारियों की टीम दूसरे क्षेत्र की तरफ निकल पड़े।
स्वास्थ्य प्रबन्धक शिव कुमार पश्वान ने बताया कि गुरुवार को हुए टीकाकरण में बीआरसी परिसर में 242,बूथ नम्बर 11 से लेकर बीस नम्बर बूथों पर 133,शिक्षक स्पेशल कैम्प में 40 शिक्षकों ने टिका लगवाया।इन्होंने कहा कि टीका कारण कार्यक्रम तेज गति से प्रारम्भ है।लोगो से अपील किया कि सभी को कोरोना का टीका लेना अनिवार्य है।इस महामारी से बचने का टीका ही एकमात्र उपाय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!